Monday, August 15, 2016

लालावास में शिक्षा के क्षेत्र में बेटी ‘कुमारी पिंकी रंगा’ ने लहराया परचम...
70वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ‘बेटी का सलाम, राष्ट्र के नाम’ के तहत गाँव लालावास की सबसे अधिक शिक्षित लड़की कुमारी पिंकी रंगा पुत्री श्री सुरेश कुमार रंगा द्वारा राजकीय माध्यमिक विद्यालय लालावास में स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर ध्वजारोहण किया गया। कुमारी पिंकी एक अति प्रतिभावान लड़की है जिसने भौतिकी विषय में स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त करके गाँव लालावास में में एक मिशाल कायम की जिससे गाँव के अन्य बच्चों को भी प्रेरणा मिली। 
स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर किया अभिभावकों को जागरूक...
इस अवसर पर मुख्याध्यापक श्री ईष्वर सिंह ने ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ पर प्रकाश डालते हुए बताया कि बेटा और बेटी में कोई अंतर नहीं है। बेटी को भी बेटे के बराबर समाज में अधिकार व सम्मान दिया जाना चाहिए। आज किसी भी क्षेत्र में लड़कियाँ, लडकों से पीछे नहीं है। आज लड़कियाँ सरहद पर भी देश की रक्षा कर रही है। मुख्याध्यापक जी ने भ्रुण हत्या पर भी प्रकाश डालते हुए बताया कि भ्रुण हत्या एक महापाप है। बेटी को भी बेटे के बराबर जीने का अधिकार है। बेटा यदि एक कुल का चिराग है तो, बेटी दो कुलों का चिराग होती है। वह दो घरों को संवारती है। लड़की एक साथ विभिन्न रिश्तों जैसे बेटी, बहन, पत्नी, तथा माँ  की भूमिका निभाने में सशम होती है। इस अवसर पर मा. विनोद कुमार रंगा ने भी बच्चों को संबोधित करते हुए बताया कि बेटी का दर्जा आज भी बेटों से कई गुना बढ़कर है। उन्होंने बच्चों को साक्षर और शिक्षित  में भेद को दर्शाते हुए बच्चों को साक्षर बनने व शिक्षित  होने का संदेश दिया।  कुमारी पिंकी ने भी बच्चों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दिए गए नारे ‘बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं’ को बुलंद करते हुए समझाया कि आज देश में कल्पना चावला, पी.टी. उषा, सानिया नेहवाल, जैसी महान विभुतियों ने हमारे देश का नाम रोशन किया है। उन्होंने बताया कि लड़कियों को देवी की अराधना करने वाला समाज कन्या के जन्म को अभिशाप कैसे मान सकता है, इसलिए भ्रुण हत्या जैसे पाप को देश से मुक्त कराने का संकल्प लेने को कहा। स्वतंत्रता हमें विरासत में मिली है। हमें इसे संजोकर रखना है और इसके लिए एक प्रयास हैः- ‘एक कदम स्वच्छता की ओर’ तथा ‘स्वच्छ भारत अभियान’ जो कि एक राष्ट्रीय मुहिम है, उसे जनस्वास्थ्य और राष्ट्र भक्ति से जोड़ते हुए अपनी देश को स्वच्छ रखने की अपील की है। उन सभी महान विभुतियों के माता-पिता ने भी अपने बच्चों के प्रति बेटा-बेटी की भावना को समझते हुए उन्हें भविष्य को संवारने के लिए अग्रसर किया।
      इस अवसर पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया। रंगारंग कार्यक्रम में विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने मंच के माध्यम से अपनी प्रतिभा को उकेरा। कार्यक्रम में बच्चों ने हरियाणवी संस्कृति से ओतप्रोत मनमोहक नृत्य की प्रस्तुति देकर ग्रामवासियों को हर्षित किया। श्री ईश्वर सिंह ने सांस्कृतिक कार्यक्रम के बाद मुख्य अतिथी कुमारी पिंकी व एस.एम.सी सदस्यों के साथ प्रस्तुति देने वाले विद्यार्थीयों को पुरस्कार वितरण किया। मुख्याध्यापक जी ने मुख्यातिथी कुमारी पिंकी, पंच कैलाश चन्द्र रंगा, महावीर शर्मा, केशरमल, फकीर चंद, संजय शर्मा, सुनील शर्मा, सुनील रंगा, समेत गणमान्य व्यक्तियों  को मोमेंटो देकर सम्मानित किया।
 मुख्याध्यापक श्री ईश्वर सिंह ने विद्यालय में आज के मुख्य अतिथी कुमारी पिंकी व एस.एम.सी. सदस्यों के साथ विद्यालय प्रागंण में पौधारोपण भी किया और उपस्थित जनों को संदेश दिया कि यदि हम स्वच्छ वातावरण चाहते है तो प्रत्येक व्यक्ति अपने जन्म दिन पर एक पौधा अवश्य लगाएं ताकि वातावरण में हमें शुद्ध हवा मिल सके। 
अधिक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाईक किजिए और हमारे साथ बने रहिए। अभी तुरंत यहाँ क्लिक किजिए.....
         www.facebook.com/lalawasiya