Friday, March 6, 2015


लालावास के युवाओं का ‘सूखी होली मिशन’ सफल...
..... और एक बार फिर से भाईचारे का परिचय देते हुए युवा पीढ़ी के नौजवानों ने सफलता की सीढ़ी पर कदम बढ़ाया। लालावास के युवाओं ने होली पर्व को प्यार, प्रेम सहिष्णुता तथा भाईचारे युक्त एक नए अंदाज में होली त्यौहार को एक नई दिशा देते हुए ‘सूखी होली’ के रूप में अपने मुकाम को हासिल किया। सभी युवा साथियों ने अपने कर्त्तव्य को समझते हुए इस मुकाम तक पहुँचने के लिए मेहनत की। अंततः सभी युवा साथियों की मेहनत रंग लाई और युवाओं ने इस मिशन को हासिल कर लिया। 
‘सूखी अबीर गुलाल युक्त होली’ मनाने का लिया था संकल्प...
सूत्रों के मुताबिक लालावास के युवाओं ने होली के इस पर्व पर्व युवाओं ने एक ‘मिशाल’ बनाने का निर्णय लिया था। इस अनूठी पहल को सफल बनाने के लिए बकायदा शर्त यह थी कि इस बार होली के त्यौहार को ‘सूखी होली’ के रूप में मनाया जाए। इस अभियान के तहत लालावास का कोई भी ग्रामवासी अबीर गुलाल के सिवाय न तो पानी का प्रयोग कर सकता था तथा न ही वह व्यक्ति पक्के रंग अथवा रसायन युक्त रंग का इस्तेमाल कर सकता है। मिशन की सभी शर्तों को सही चरितार्थ में लाते हुए इस मुहिम के प्रति लालावास के युवा विशेष रूप से सक्रीय नजर आए। लालावास के युवाओं ने अपनी कर्तव्य के प्रति जल संरक्षण के महत्व को समझते हुए बच्चों को पानी के महत्व के बारे में समझाया तथा बच्चों को रसायन युक्त रंग बारे में बताते हुए अपनी कर्मनिष्ठा का एक उदाहरण प्रस्तुत किया। लालावास के युवाओं ने होली पर्व को बड़े ही हर्शोल्लास प्रेम व भाईचारे व पूर्ण रूप से नैतिकता के साथ मनाया। होली के त्यौहार पर धुलंड़ी के दिन तमाम युवा एकत्र होकर भाईचारे के साथ गावँ में ढ़ोलक की ताल के साथ थिरकते नजर आए। इस अवसर पर अबीर गुलाल का प्रबंध युवा साथियों की तरफ से किया गया था। इस मिशन का पुरा श्रेय लालावास के सम्पुर्ण युवा साथियों को जाता है जिनका हमें होली के प्रति पुर्ण रूप से सहयोग मिला। फलस्वरूप हम इस मुकाम को हासिल  कर सके। ‘होली मिशन’ अभियान के आयोजक मा. विनोद रंगा ने सभी युवा साथियों का धन्यवाद करते हुए आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि वे इसी आशा के साथ गाँव में अमन चैन व भाईचारे को बनाए रखने में अपना योगदान देते रहेगें। होली के इस मिशन को सार्थकता दिलाने में हनुमान कारगवाल, हवलदार कृश्ण, मा. नरेन्द्र कौशिक, नरेन्द्र वर्मा, मा. रवि र्मा, विनोद वर्मा, मा. राजीव, अत्तर रंगा, तेजपाल, श्रीभगवान वर्मा, हिकेन्द्र, दलीप, अजय शर्मा (ए.बी.), अशोक वर्मा, राजकुमार वर्मा, प. रामेश्वर, बुद्धराम, मामन, दिपक शर्मा, सुनील शर्मा, कुलदीप, समेत अनेक लोगों का विशेष रूप से अमुल्य योगदान रहा। 
अधिक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाईक किजिए और हमारे साथ बने रहिए। अभी तुरंत यहाँ क्लिक किजिए.....