Sunday, February 22, 2015


क्रिकेट प्रतियोगिता में प्रथम रहे लालावास के शेर...
लालावास में 16 फरवरी से चली आ रही युवा विकाश मंडल की तरफ से क्रिकेट प्रतियोगिता का समापन 22 फरवरी को खेल परिसर लालावास में सम्पन्न हुआ। लालावास की क्रिकेट टीम ने फाइनल में छपार को पटखनी देते हुए 11000 रूपये का इनाम अपने नाम कर लिया। लालावास की टीम ने सरजमीं पर ही बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए इस मुकाबले को जीत लिया। छपार की टीम को हांलाकी दुसरे स्थान से ही संतुष्ट होना पड़ा। 
प्राप्त जानकारी के अनुसार लालावास के युवा खिलाड़ी मोहित बंसल की याद में हुई प्रथम क्रिकेट प्रतियोगिता का शुभांरभ 16 फरवरी को किया गया था। सभी खिलाड़ियों ने दो मिनट का मौन धारण कर मोहित बंसल को श्रद्धाजंली अर्पित की। इस प्रतियोगिता में करीब 50 टीमों ने भाग लिया था। लालावास की टीम ने अव्वल प्रदर्शन करते हुए जुई को पछाड़कर फाइनल में पहुँच गई। 22 फरवरी को करीब 11 बजे से ही गाँव के तमाम लोग खेल परिसर में पहुँच रहे थे। दोपहर करीब  1 बजे लालावास का छपार के साथ फाइनल मैच शुरू हुआ। लालावास ने टॉस जितते हुए पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया जो मैच में निर्णायक शाबित हुआ। लालावास की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 8 ओवर के इस मैच में 80 रन बनाए। लालावास टीम की तरफ से सुनील ने 29, अनिल ने 16, तथा सोनू ने 14 रन का योगदान दिया। लक्ष्य का पीछा करते हुए छपार की टीम केवल 73 रन ही बना पाई। आखिरकार लालावास ने इस प्रतियोगिता का फाईनल मैच 7 रन से जीत लिया। मैच में भुपेन्द्र कुमार का कैच चर्चा में रहा जो उन्होंने सीमा रेखा के करीब लपका। भुपेन्द्र व तथा सुनील की गेंदबाजी काफी सराहनीय रही। मैच में नरेश, नविन, अंकित, प्रवेश, भुपेन्द्र, रवि, विरेन्द्र, ने भी अहम भुमिका निभाई। आकाश बंसल व मोहन्ती चंदावास ने भी अम्पायर के रूप में निर्णायक फैसले दिये। इस प्रतियोगिता को पुर्ण रूप से सफल बनाने में अजय शर्मा लालावास (ए.बी.) का विशेष रूप से योगदान रहा। 
खेल प्रतियोगिता का भी हुआ आयोजन...
क्रिकेट प्रतियोगिता के समापन के अवसर पर खेल प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। जिसमें महिलाओं की मटका दौड़, बुढ़ो की दौड़, महिलाओं की दौड़, लड़कियों की दौड़, पुरूषों की रस्साकसी, बच्चों की दौड़, तथा नवयुवकों की दौड़ समेत अनेक स्पर्धाएं शामिल थी। बच्चों की दौड़ में सुमीत ने पहला व लक्की ने दुसरा स्थान प्राप्त किया। निम्न वर्ग की लडकियों की दौड़ में मनिषा ने प्रथम व मिनाक्षी ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। मध्यम वर्ग की लडकियों की दौड़ में मोनिका ने पहला व डिम्पल ने दुसरा स्थान प्राप्त किया। निम्न वर्ग के लड़को की दौड़ में सुमीत ने प्रथम व भारत ने दुसरा स्थान प्राप्त किया। मध्यम वर्ग के लड़को की दौड़ में नरेन्द्र ने पहला व प्रवीण ने दुसरा स्थान प्राप्त किया। लड़कियों की दौड़ में ललीता ने प्रथम व रेणु ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। महिलाओं की मटका दौड़ में राजेश ने पहला, मीना ने दुसरा, तथा सुशीला ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। महिलाओं की दौड़ में सुमन ने पहला व राजेश ने दुसरा स्थान प्राप्त किया। लड़कों की दौड़ में राकेश ने पहला व मोनु बोंग ने दुसरा स्थान प्राप्त किया। नवयुवकों की 400 मीटर दौड़ में रोहित ने प्रथम व नवीन ने दुसरा स्थान प्राप्त किया। 100 मीटर की दौड़ में भुपेन्द्र ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। 50 से 60 साल की उम्र के बुढ़ो की दौड़ में कैलाश रंगा ने प्रथम व हनुमान ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। 60 साल से ऊपर के बुढ़ों की दौड़ में भीमसैन ने पहला व अमरसिंह ने दुसरा स्थान प्राप्त किया। रस्साकसी में केशरमल की टीम ने पहला स्थान प्राप्त किया जिसमें केशरमल समेत अत्तर, राजु, भीम, राजकुमार, कृष्ण हवलदार, अमरसिंह तथा भीमसैन शामिल थे। दुसरा स्थान प्राप्त करने वाली सरपंच नरेश की टीम में नरेश समेत प्रभाती राम, रामप्रताप, रामचंद्र, जितेन्द्र, दयाचंद, डिल्लु, तथा अनिल शामिल थे। अंत में गाँव के तमाम बुजुर्गों द्वारा पुरूस्कार वितरण करवाया गया। पुरूस्कार वितरण समारोह में राकेश कौशिक ने भी मंच संचालक के रूप में विशेष भुमिका अदा की। पुरूस्कार वितरण समारोह में लालावास के सरपंच नरे कुमार, भुतपुर्व सरपंच प्रभाती राम, रामप्रताप, दयाचंद, रामचंद्र, उदमी राम, अमरसिंह, गिरधारी, सतबीर, प्रकाश, रोहताश, रामबिलाश, रामनिवास, केशरमल, कैप्टन भीमसैन, एस.सी. वेदपाल रंगा, कैलाश रंगा, हनुमान, कृष्ण हवलदार, अत्तर, जितेन्द्र, बलबीर, रामफल, ओमप्रकाश, ईश्वर, समेत अनेक गणमान्य लोग शामिल थे। 
अधिक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाईक किजिए और हमारे साथ बने रहिए। अभी तुरंत यहाँ क्लिक किजिए.....